जांजगीर चाँपा

शिक्षा विभाग :- बीईओ को किया गया निलंबित… नियम विरुद्ध वेतन आहरण का मामला

भुवनेश्वर बंजारे

जांजगीर – नियम विरुद्ध शिक्षको के वेतन आहरण के मामले में अकलतरा बीईओ वेंकटरमन प्रताप सिंह पाटले को सस्पेंड कर जेडी कार्यालय बिलासपुर अटैच कर दिया है। मामले की शिकायत के बाद जांच में अकलतरा बीईओ वेंकटरमन प्रताप सिंह पाटले को 5 लाख 98 हजार 727 रुपए के अनियमित वेतन आहरण के मामले में दोषी ठहराते हुए स्कूल शिक्षा विभाग के अवर सचिव पुलक भट्‌टाचार्य ने कार्यवाही की है। मिली जानकारी के अनुसार हेडमास्टर संतोष कुमार सहकर को लकवा होने के कारण 449 दिनों तक अनुपस्थित रहे। इनकी 62 दिनों की छुट्‌टी स्वीकृत की गई थी। इनका 1 साल22 दिन यानि 387 दिनों का वेतन निकाला गया है। इसी प्रकार यूडीटी लक्ष्मीप्रसाद धिरही को भी लकवा होने के कारण 97 दिन छुट्‌टी पर रहे।

इन्हें 86 दिनों की छुट्‌टी स्वीकृत की गई, 11 दिन अवकाश अस्वीकृत किया गया। इसके बाद 82 दिनों तक मेडिकल अवकाश पर रहे स्कूल में इसका उल्लेख है, लेकिन इनका मेडिकल स्वीकृत नहीं हुआ फिर भी इनके नाम से 93 दिनों का वेतन और भत्ता स्वीकृत कर निकाल लिया गया है। इसी प्रकार यूडीटी लवकुमार साहू का 21 दिसंबर 2018 को एक्सीडेंट होने के कारण वे 22 दिसंबर 2018 से दिसंबर 2019 तक छुट्‌टी पर रहे। इन्होंने 35 दिनों का मेडिकल दिया लेकिन वह स्वीकृत नहीं हुआ। 5 माह तक अनुपस्थित रहे फिर भी इनका वेतन निकाल कर भुगतान किया गया है। जिसकी शिकायत की जांच कराई गई थी, जिसमें बीईओ वेंटरमन प्रताप सिंह पाटले द्वारा आर्थिक अनियमितता करने का मामला प्रमाणित हुआ है।

error: Content is protected !!