बिलासपुर

जमीन का बंटवारा नही देने पर सौतेले भाई का अपहरण कर हत्या….पिता को सबक सिखाने दिया घटना को अंजाम,

रमेश राजपूत

बिलासपुर – जिले के सकरी थाना पुलिस ने संपत्ति विवाद में अपहरण और हत्या के मामले को सुलझाते हुए सौतेले भाई सहित 3 आरोपियों को गिरफ्तार किया है जिन्होंने पहले युवक का अपहरण किया फिर हत्या कर शव को तालाब में फेंक कर ठिकाने लगा दिया था। मिली जानकारी के अनुसार तखतपुर थाना क्षेत्र के ग्राम चितावर निवासी चतरू बिंझवार पिता छेदी बिंझवार उम्र 56 वर्ष ने दो शादियाँ की थी पहली पत्नी से एक बेटा संतोष और दूसरी पत्नी से 2 बेटे कार्तिक और चुरावन और 1 बेटी है, जिसमें पहली पत्नी के बेटे संतोष बिरको ने अपने चाचा के बेटे तिजराम बिरको

, ओमप्रकाश बिरको और अन्य साथी शिव प्रसाद बिरको के साथ अपने पिता से संपत्ति विवाद को लेकर आपसी रंजिश रखे हुए थे, जिन्होंने बीती शाम अपने सौतेले भाई कार्तिक बिरको को बाजार से लौटते वक्त घात लगाकर बाइक से गिराकर घायल किये फिर बाइक में अपहरण कर गिरधौना की ओर ले गए, जहाँ मारपीट कर उसकी हत्या कर लाश को तालाब में ठिकाने लगाकर फरार हो गए थे। घटना की जानकारी मृतक के पिता चतरू बिंझवार को तब हुई जब उसे पता चला कि उसका बेटा कार्तिक बाजार से नही लौटा है वही उसकी बाइक रास्ते मे खड़ी है, जहाँ मौके पर जाकर देखने पर पता चला कि कुछ अनहोनी हुई है जहाँ मौके पर खून और उसकी घड़ी पड़ी थी,

उन्होंने आस पास पता किया तो जानकारी मिली कि संतोष बिरको और अन्य उसे बाइक में बैठाकर मारपीट करते हुए लेकर गए है। अपने बेटे को ढूंढने आस पास गए लेकिन नही मिलने पर उन्होंने इसकी रिपोर्ट थाने में दर्ज कराई, जिस पर सकरी पुलिस ने मामले को गंभीरता से लेते हुए तत्काल आरोपियों की धरपकड़ शुरू की जिनके हाथ आरोपी लगे, जिन्होंने पूछताछ में अपहरण के बाद हत्या की बात कबूल की और लाश नाला तालाब ग्राम चितावर में फेंक दिये जाने की बात जाहिर की जिनकी निशानदेही पर तालाब से कार्तिक की लाश और अन्य सामान को जब्त किया गया है।

प्रकरण में अपराध धारा 302, 201 भादवि जोंड़ी गई है। आरेापियो के विरूध्द अपराध पाये जाने से गिरफ्तार कर सभी आरोपियों को न्यायिक रिमाण्ड पर भेजा गया। उपरोक्त संपूर्ण कार्यवाही में थाना प्रभारी निरीक्षक राजेश मिश्रा, सउनि जीवन साहू, हेमंत आदित्य, उदयभान सिंह, आरक्षक पुनित नेताम, कलेश्वर यादव, संजय बंजारे, रूपेश कौशिक, पवन सिंह ठाकुर, पंकज यादव, राजकुमार श्याम, कृष्ण कुमार मार्को, प्रशांत महिलांगे एवं मालिक राम साहू एवं समस्त थाना स्टाफ की विशेष भूमिका रही है ।

error: Content is protected !!